मिथुन राशि राशिफल भविष्यवाणी 2019 जानिए वर्ष 2019 में शिक्षा और ज्ञान, करियर एवं व्यवसाय, प्रेम और सम्बंध, विवाह व सन्तान, धन एवं संपत्ति से सम्बंधित सभी संभावनाओ के बारे में विस्तृत रूप से jagran.com पर

0
57

चंद्र राशि के अनुसार मिथुन राशि वालों के नाम के पहले अक्षर

चंद्र राशि के अनुसार, मिथुन राशि वालों के नाम निम्नलिखित अक्षरों से प्रारंभ होते हैं। का, की, कू, घ, ड, छ, के, को, और हा। ज्यादातर लोग अपने राशि या जन्मपत्रिका के नाम को दैनिक जीवन में प्रयोग नहीं करते। एेसे में अगर आपका जन्म नाम आैर प्रयोग किया जाने वाला नाम अलग अलग अक्षरों से प्रारंभ होता है तो यहां पर दी गर्इ राशि को अपने पुकारे जाने वाले नाम के पहले अक्षर से पहचानें।

अच्छा होगा वर्ष का आरंभ 

मिथुन राशि वालों के लिए वर्ष के प्रारंभिक दिन अच्छे व्यतीत होंगे पर जुलाई के बाद अनेक प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। कार्यों की शिथिल गति और उनका अटकाव परेशान कर सकता है, जिससे आपका आत्मविश्वास प्रभावित हो सकता है। इसके बावजूद सभी योजनाओं को भली—भांति क्रियान्वित कर पाएंगे, साथ ही भाग्य आपके साथ रहेगा। 

प्रगति के पथ पर आगे बढ़ेंगे 

वर्ष की शुरुआत अच्छी रहेगी, इसलिए धैर्य के साथ प्रगति के पथ पर कदम बढ़ाएं। कुछ उलझनें आएंगी और कार्य की अधिकता एवम् उच्च अधिकारियों से अनबन जैसी स्थिति भी रहेगी, परंतु अगस्त के बाद पदोन्नति, उच्च अधिकारी से अच्छी प्रशंसा, पुरस्कार, कार्य में प्रगति, अधिकार में वृद्धि और उचित स्थान पर स्थानांतरण जैसी सफलता भी प्राप्त होगी। 

 

परिवार और दाम्पत्य जीवन पर रहेगा मिला-जुला प्रभाव 

पारिवारिक दृष्टि से यह वर्ष आपके लिए कुछ प्रतिकूल हो सकता है, जिसके चलते कुटुंबजनों से विवाद हो सकता है, किंतु अगस्त के बाद इस संबंध में राहत मिलेगी। तब तक गृहक्लेश आपको परेशान करेंगे, ऐसे में आपको वाणी पर संयम रखना अत्यंत हितकारी रहेगा। इस वर्ष गुरु आपके दाम्पत्य जीवन को प्रभावित कर सकते हैं। संपूर्ण वर्ष ब्लड प्रेशर, वात रोग और उदर रोग आपको समय-समय पर पीड़ित करते रहेंगे। 

आर्थिक स्थितियों को काबू में रखें

आर्थिक दृष्टि से इस वर्ष आपको थोड़ी परेशानी हो सकती है। आय में कमी या धन अर्जन के मार्ग में अवरोध जैसी अनावश्यक बाधाएं परेशान करेंगी। इस दौर पहले संचित किए गए धन का व्यय भी संभव है। हालांकि, सितंबर के बाद कुछ राहत महसूस होगी। इस वर्ष कर्ज होने की भी संभावना है। इससे बचने के लिए व्यय पर अंकुश लगाना अत्यंत आवश्यक है।

-ज्योतिषचार्य पंडित दीपक पांडे

Posted By: Molly Seth